चक्रधरपुर शहर

चक्रधरपुर(chakradharpur) एक शहर है झारखंड का जिसका जिला पश्चिम सिंहभूम है चक्रधरपुर रेलवे स्टेशन एक डिविजनल हेडक्वार्टर है साउथ स्टैंड रेलवे का इस छोटे से शहर में सभी तरह के परिवहन सेवाएं उपलब्ध है चक्रधरपुर का मुख्य सड़क मार्ग NH-20 है जो चाईबासा और रांची तक जाती है चक्रधरपुर  दक्षिण पूर्व रेलवे का मुख्यालय होने के कारण यहां पर सभी तरह के ट्रेन का ठहराव है मुख्यतः चक्रधरपुर का रेल मार्ग दक्षिण में  राउरकेला और पूर्व में टाटानगर  को जोड़ती है.चक्रधरपुर का सबसे नजदीकी राज्य ओडिशा है

Pawan chock

चक्रधरपुर(chakradharpur) का भूगोल

 यह शहर लगभग 22 पॉइंट 7 डिग्री उत्तर और 85 पॉइंट 63 डिग्री पूर्व में स्थित है इस शहर में मुख्य नदी के रूप में संजय है यह उतनी बड़ी नदी तो नहीं है परंतु यही एक मुख्य नदी है. चारों तरफ पहाड़ों से घिरा होने के कारण यहां का मौसम काफी अच्छा रहता है ठंडे दिनों में  शहर का तापमान लगभग 20 डिग्री से नीचे तक आता है और गर्मी के दिनों में लगभग 40 डिग्री तक रहता है 

चक्रधरपुर के अंतर्गत गांव

   कुछ गांव जो चक्रधरपुर के अंतर्गत आते हैं जैसे आसनतलिया केरा कंसारा गोपीनाथपुर   चंद्री झरझरा जोरो, देवगांव, दांती तोकलो सिमिडिरी, हाथिया, सेतहाका, एटोर, कोलचोकरा,, आदि है 

चक्रधरपुर नगर परिषद को लगभग 23 से ज्यादा  वार्ड में बांटा गया है जिसमें रेलवे कॉलोनी या रेलवे क्षेत्र को लगभग 3 भाग  मिला है  रेलवे कॉलोनी बहुत बड़े भाग में फैला है जिसमें लगभग 8000 से ज्यादा क्वार्टर है रेलवे के कर्मचारियों के रहने के लिए 

Block office ckp

 जनसंख्या

भारतीय जनगणना के हिसाब से 2011 में चक्रधरपुर का जनसंख्या लगभग  56 हजार 531 था जिनमें पुरुषों की जनसंख्या 28932 थी और महिलाओं की 27599 परंतु इन 9 सालों में काफी कुछ बदल चुका है शहर में जनसंख्या और लोगों के रहने के तौर तरीकों में काफी बदलाव हुआ है 

   भाषा

 चक्रधरपुर में अधिकांश लोग हिंदी और उड़िया भाषा का प्रयोग करते हैं उनके अलावा भी बहुत सारे क्षेत्रीय भाषाएं जिनका लोग प्रयोग करते हैं  जैसे कुड़माली हो मुंडारी संथाली भोजपुरी आदि परंतु मुख्यतः लोग हिंदी और उड़िया का ही प्रयोग करते हैं

स्कूल

 नीचे और सरकारी स्कूल का कुल मिलाकर आंकड़ा लगभग 10 से ज्यादा है जिसमें जानी-मानी  निजी स्कूल है जैसे एम एस एन पब्लिक स्कूल दिल्ली पब्लिक स्कूल संत जेवियर पब्लिक स्कूल कांसेप्ट पब्लिक स्कूल है उसके अलावा भी सरकारी स्कूलों का आंकड़ा भी लगभग  5 से ज्यादा है यह आंकड़ा 2 किलोमीटर त्रिज्या क्षेत्र में है

Marwari +2 school

 कॉलेज

 कॉलेजों की संख्या भी लगभग 5 से ज्यादा है जिसमें मुख्य कॉलेज जवाहरलाल नेहरू कॉलेज आरपीएस कॉलेज सिस्टर निवेदिता कॉलेज उपलब्ध है उसके अलावा प्लस टू तक पढ़ने के लिए मारवाड़ी प्लस टू  स्कूल भी है 

 2020 चक्रधरपुर

 अब इस शहर में  बहुत सारे बदलाव हुए हैं बहुत सारे सरकारी इमारतों में भी बदलाव हुए हैं लोगों के रहने के तौर तरीके में भी बदलाव हुए हैं लोगों की समझदारी बड़ी है पहले के मुकाबले लोग साक्षर हैं

RLY park

पहले के मुकाबले बहुत सारे निजी स्कूल में बढ़ोतरी हुई है अब चक्रधरपुर को 1 शिक्षा का हब के तौर  तौर पर भी देखा जाने लगा है क्योंकि भले ही तकनीकी तौर पर लोग ज्यादा जागरूक नहीं हैं परंतु यहां का परिणाम काफी अच्छा होता है चक्रधरपुर का बाजार और चहल पहल भी पहले के मुकाबले काफी बड़ी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *